धार्मिक आंदोलन से संबंधित जानकारी | Religious Movement Related Knowledge in Hindi - EXAMS TIPS HINDI

Home Top Ad

Post Top Ad

Tuesday, August 6, 2019

धार्मिक आंदोलन से संबंधित जानकारी | Religious Movement Related Knowledge in Hindi

धार्मिक आंदोलन से संबंधित जानकारी | Religious Movement Related Knowledge in Hindi

इस लेख में धार्मिक आंदोलन (Religious Movement) से संबंधित जानकारी है, जो प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण है। यह जानकारी विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं UPSC, PSC, SSC, रेलवे, पुलिस, विद्युत विभाग, NET इत्यादि के लिए बहुत उपयोगी है। धार्मिक आंदोलन GK की pdf फ़ाइल लेख के अंत में दी गयी है, जिसे आप फ्री में डाउनलोड कर सकते है।

Religious Movement, ancient india history, धार्मिक आंदोलन
Religious Movement Related Knowledge in Hindi

● पाश्र्वनाथ की माता का क्या नाम था→ वामा
● पाश्र्वनाथ की पत्नी का क्या नाम था → प्रभावती
● पार्श्वनाथ की मृत्यु 100 वर्ष की आयु में कहाँ हुई → सम्मेद पर्वत शिखर
● 540 ई.पू. महावीर का जन्म कहाँ हुआ था → वैशाली के निकट कुण्डग्राम
● महावीर के पिता का क्या नाम था → सिद्धार्थ
● सिद्धार्थ क्षत्रियों के किस संघ के प्रधान थे → ज्ञातृक
● महावीर की माता का क्या नाम था → त्रिशला
● महावीर का विवाह किसके साथ हुआ था → यशोदा
● महावीर की पुत्री का क्या नाम था → अर्णोज्जा या प्रियदर्शना
● अर्णोज्जा का विवाह किसके साथ हुआ था → जमालि
● महावीर को अन्य किस नाम से जाना जाता है → वर्द्धमान
● वर्द्धमान ने कितने वर्ष की आयु में गृह त्याग किया → 30 वर्ष
● नालंदा में उनकी मुलाकात किस संन्यासी से हुई → मक्खलि गोसाल
● महावीर की पहली अनुयायी (भिक्षुणी) कौन थी → चन्दना
● चन्दना किसकी पुत्री थी → दधिवाहन
● दधिवाहन कहाँ के शासक थे → चम्पा
● मक्खलि गोसाल ने महावीर का साथ छोड़कर किस नए संप्रदाय की स्थापना → आजीवक
● जृम्भिक ग्राम के समीप ऋजुपालिका नदी के तट पर किस वृक्ष के नीचे महावीर को ज्ञान (कैवल्य) प्राप्त हुआ → साल
● 468 ई.पू. 72 वर्ष की आयु में महावीर ने कहाँ पर शरीर त्याग किया → पावा
● सम्यक् ज्ञान, सम्यक् दर्शन व सम्यक् चरित्र जैन धर्म में क्या कहलाते हैं → त्रिरत्न
● प्रथम जैन संगीति पाटलिपुत्र में कब हुई → 322 से 298 ई.पू.
● जैन साहित्यों की भाषा कौन-सी थी  → अर्द्ध मागधी
● जैन धर्म किन दो शाखाओं में विभाजित हुआ → श्वेताम्बर और दिगम्बर
● देवर्धि क्षमाश्रमण की अध्यक्षता में वल्लभी में दूसरी जैन संगीति कब हुई → 512 ई.
● श्वेताम्बर सम्प्रदाय के साधु क्या कहलाते हैं → छुल्लक, ऐल्लक, निग्रंथ
● दिगम्बर सम्प्रदाय के साधु क्या कहलाते हैं → यति, साधु, आचार्य
● श्वेताम्बर सम्प्रदाय के संस्थापक कौन थे → स्थूल भद्र
● वर्द्धमान, केवलिन, जिन, यति, अर्हत् और वीतराग किनके अन्य नाम हैं → महावीर
● जैन धर्म के अंतिम केवलिन कौन थे → जम्बू स्वामी
● पुजेरा, स्थानकवासी, थेरापंथी जैन धर्म के किस उपसंप्रदाय के अंतर्गत हैं → श्वेताम्बर
● बीसपंथी, थेरापंथी, तारणपंथी, गुमानपंथी, तोतापंथी किसके अंतर्गत हैं → दिगम्बर
● जब कर्म का आत्मा की ओर प्रवाह होता है, उसे क्या कहते हैं → आसन
● जैन धर्म का संस्थापक किसे माना जाता है → ऋषभदेव
● ऋषभदेव कौन थे → सम्राट भरत के पिता
● जैन धर्म के 23वें तीर्थंकर कौन थे → पाश्र्वनाथ
● जैन धर्म के 24वें एवं अंतिम तीर्थंकर कौन थे → महावीर
● उपवास द्वारा शरीर का त्याग जैन धर्म में क्या कहलाता है → संलेखना
● जैन उपासकों का उल्लेख किस पुस्तक में हैं → उवासगदसाओ
● दिगंबर सम्प्रदाय किसकी शिक्षाओं को प्रामाणिक मानता है → भद्रबाहु
● जैन तीर्थंकर ऋषभदेव का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → सांड/वृषभ
● अजितनाथ का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → हाथी
● संभवनाथ का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → घोड़ा
● अभिनंदन का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → कणि
● सुमतिनाथ का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → सारस
● पद्मप्रभा का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → लाल कमल
● संपश्र्व का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → स्वास्तिक
● चंद्रप्रभा का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → चाँद
● सुविधि का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → डॉल्फिन
● सीतलनाथ का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → वृक्ष
● श्रेयंसनाथ का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → गैंडा
● वसुपूज्य का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → भैंस
● विमलनाथ का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → शूकर
● अनंतनाथ का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → बाज या साही
● धर्मनाथ का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → वज्र
● शांतिनाथ का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → हिरण
● कुंथुनाथ का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → वज्र
● अरनाथ का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → मत्स्य
● मल्लिनाथ का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → कलश
● सुव्रतनाथ का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → नीलकम
● नामिनाथ का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → कच्छप
● अरिष्टनेमि का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → शंख
● पाश्र्वनाथ का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → सर्पफण
● महावीर का प्रतीक चिन्ह कौन-सा है → सिंह
● स्यादवाद को अन्य किस नाम से जानते हैं → अनेकांतवाद
● पुद्गल कणों का जीव में प्रवेश का क्या अर्थ है → बंधन
● कर्म का जीव की ओर प्रवाह रुक जाना क्या कहलाता है → संवर
● जीव में पहले से विद्यमान कर्मों का समाप्त हो जाने का क्या अर्थ है → निर्जरा
● बौद्ध धर्म प्रवर्तक गौतम बुद्ध का जन्म कब हुआ → 563 ई.पू.
● गौतम बुद्ध का जन्म कहाँ हुआ था → कपलवस्तु के समीप लुम्बिनी वन
● गौतम बुद्ध के पिता का क्या नाम था → शुद्धोधन
● गौतम बुद्ध की माता का क्या नाम था → मायादेवी
● गौतम बुद्ध के बचपन का नाम क्या था → सिद्धार्थ
● गौतम बुद्ध का विवाह किसके साथ हुआ था → यशोधरा
● गौतम बुद्ध के पुत्र का क्या नाम था → राहुल
● गौतम बुद्ध के गृहत्याग के समय इनकी उम्र कितनी थी → 29 वर्ष
● ज्ञान प्राप्ति हेतु गौतम बुद्ध सर्वप्रथम सांख्य दर्शन के किस आचार्य के पास पहुँचे → अलार कलाम
● गौतम बुद्ध को कितनी आयु में गया में वट (पीपल) वृक्ष के नीचे ज्ञान प्राप्त हुआ → 35 वर्ष
● गौतम बुद्ध के द्वारा दिया गया प्रथम उपदेश क्या कहलाता है → धर्मचक्रप्रवर्तन
● चार आर्य सत्य, अष्टांगिक मार्ग, सदाचार पर बल किनकी शिक्षाएँ थीं → महात्मा बुद्ध
● बौद्ध धर्म के त्रिरत्न कौन-से हैं → बुद्ध, धम्म, संघ
● बुद्ध के जीवन से संबंधित चिन्हों में जन्म का चिन्ह क्या है → कमल व सांड
● गृहत्याग का चिन्ह क्या है → घोड़ा
● ज्ञान का चिन्ह क्या है → पीपल (बोधिवृक्ष)
● निर्वाण संबंधी चिन्ह क्या है → पद चिन्ह
● मृत्यु संबंधी चिन्ह क्या है → स्तूप
● 483 ई.पू. में राजगृह में हुई प्रथम बौद्ध संगीति की अध्यक्षता किसने की → महाकस्सप
● द्वितीय बौद्ध संगीति 383 ई.पू. में कहाँ हुई थी → वैशाली
● तृतीय बौद्ध संगीति की अध्यक्षता किसने की थी → मोग्गलिपुत्त तिस्स
● प्रथम सदी ई. में चतुर्थ सभा में क्या कार्य किया गया → विभाषा शास्त्र का संकलन
● महासंघिक, स्थविरवादी, वज्रयान, कालचक्रयान किस धर्म के अन्य सम्रदाय थे → बौद्ध
● बौद्ध साहित्य के पिटक साहित्य के अंतर्गत कौन-से आते हैं → सुत्तपिटक, विनयपिटक, अभिधम्मपिटक
● हिरण्यकुंज आम्रवन कहाँ स्थित है → सारनाथ
● चीनी भाषा में बौद्ध ग्रंथों का अनुवाद सर्वप्रथम किसने किया था → कश्यप मातंग


ह भी पढ़ें:- 


भारतीय इतिहास की महत्वपूर्ण प्रतियोगी परीक्षा उपयोगी जानकारी 
प्रागैतिहासिक काल संबंधित जानकारी
हड़प्पा सभ्यता संबंधित जानकारी
वैदिक संस्कृति संबंधित जानकारी

धार्मिक आंदोलन से संबंधित जानकारी | Religious Movement Related Knowledge in Hindi


● बौद्ध धर्म का सबसे प्राचीन सम्प्रदाय कौन था → थेरवाद
● बौद्ध संघ में प्रविष्ट होने को क्या कहा जाता था → उपसंवदा
● बुद्ध की सबसे पहली जीवनी का उल्लेख किस पुस्तक में हुआ है → ललित विस्तार
● बौद्ध धर्म में प्रत्यक्ष मतदान को क्या कहा जाता था → विवतक
● बौद्ध धर्म को अन्य किस नाम से भी पुकारा जाता है → वैदिक धर्म
● किस काल में ब्राह्मण धर्म ने विशेष प्रतिष्ठा प्राप्त की → गुप्तकाल
● बद्रीनाथ, पुरी, काँची तथा द्वारिका किस नाम से प्रसिद्ध हैं → चार धाम
● अयोध्या, मथुरा, माया (हरिद्वार), काशी, उज्जैन, काँची, द्वारिका को क्या कहा गया → मोक्षदायी जगह
● ऐतरेय ब्राह्मण में सर्वोच्च देवता किसे कहा गया हैं → विष्णु
● नारायण का सर्वप्रथम उल्लेख किस ग्रंथ में मिलता है → शतपथ ब्राह्मण
● मेगस्थनीज ने कृष्णा को अन्य किस नाम से संबोधित किया→ हेराक्लीज
● किन राजाओं ने खजुराहो में विष्णु के मंदिर बनवाए → चंदेल
● वैदिक काल में विष्णु की मूर्तियाँ कैसी हैं → चतुर्भुजी
● यूनानी राजदूत मेगस्थनीज शिव की पूजा का उल्लेख अन्य किस नाम से करता है → डायनोसस
● किस काल में शिव पूजा का प्रसार लिंग के रूप में हुआ → गुप्तकाल
● किस विदेशी यात्री ने लिखा-वाराणसी शैव धर्म का प्रमुख केंद्र है, जहाँ शिव के एक सौ मंदिर हैं → व्हेनसांग
● पाशुपत संप्रदाय के अनुयायी क्या कहलाते थे → पंचार्थिक
● लकुलीश का जन्म कहाँ हुआ था → कायावरोहण
● कापालिकों का प्रमुख केंद्र कौन-सा स्थान था → श्री शैल
● ऋग्वेद के दसवें मंडल में देवीसूक्त में किसकी उपासना की गई है → वाक् शक्ति
● शाक्त धर्म में किस रहस्य शक्ति का अत्यधिक महत्व है → कुंडलिनी
● शिव की प्राचीन मूर्ति गुडीमल्लम लिंग कहाँ से मिली है → रेनगुंटा
● बौद्ध ग्रंथों में बुद्ध के गृहत्याग को क्या संज्ञा दी गई → महाभिनिष्क्रमण
● बुद्ध का जन्म, उन्हें ज्ञान प्राप्ति उनकी मृत्यु (महापरिनिर्वाण) किस तिथि को हुए → वैशाख की पूर्णिमा
● मंजूश्रीकल्प में वर्णित किस ध्यानी बुद्ध की शक्तियाँ पांडर, बोधिसत्व पद्मपाणि, मानुषी बुद्ध गौतम हैं → अमिताभ
● किस ध्यानी बुद्ध की शक्तियाँ लोचन, बोधिसत्व अवलोकितेश्वर, मानुषी बुद्ध कनकमुनि हैं → अक्षोम्य
● किस ध्यानी बुद्ध की शक्तियाँ मरीचि, बोधिसत्व सामंतमद, मानुषी बुद्ध क्राकुच्छंद हैं → वैरोचन
● किस ध्यानी बुद्ध की शक्तियाँ मामकि, बोधिसत्व रत्नपाणि, मानुषी बुद्ध कस्यप हैं → रत्नसंभव
● किस ध्यानी बुद्ध की शक्तियाँ वज्र धत्वेश्वरि, बोधिसत्व विश्वपाणि, मानुषी बुद्ध मैत्रेय हैं → अमोघसिद्धि
● बौद्ध धर्म के महासंघिक संप्रदाय का प्रधान केंद्र कौन-सा था → मगध
● बाद में महासंघिक किस में परिणत हो गया → महायान
● महासंघिक के दो उप संप्रदाय कौन-से हैं → माध्यमिक, योगाचार
● माध्यमिक उप संप्रदाय के प्रवर्तक कौन थे → नागार्जुन
● योगाचार उप संप्रदाय के प्रवर्तक कौन थे → मैत्रेयनाथ
● स्थविरवादी संप्रदाय का प्रधान केंद्र कहाँ पर था → कश्मीर
● बाद में यह संप्रदाय किसमें परिणत हो गया → हीनयान
● स्थविरवादी के दो उप संप्रदाय कौन-से हैं → सौत्रान्तिक, वैभाषिक
● सौत्रान्तिक उप संप्रदाय के प्रवर्तक कौन थे → कुमारपाल
● वैभाषिक उप संप्रदाय के प्रवर्तक कौन थे → कात्यायनीपुत्र
● बौद्ध धर्म की महायान शाखा का ही एक तांत्रिक संप्रदाय कौन-सा है → वज्रयान
● कालचक्रयान संप्रदाय का उदय कब हुआ था → 9वीं, 10वीं सदी में
● कालचक्रयान के प्रवर्तक कौन थे → मंजूश्री
● कालचक्रयान संप्रदाय ने ब्रह्मांड का प्रतीक किसे माना → मानव शरीर
● दीघ निकाय, अंगुत्तर निकाय तथा खुद्दक निकाय किसके उपांग हैं → सुत्तपिटक
● सुत्त विभाग, संघका तथा पाचित्तिय किसके उपांग हैं → विनयपिटक
● पुद्गल, कथावत्थु यमक तथा पञ्जाति किसके उपांग है → अभिधम्मपिटक
● मिलिन्दपन्हो, दीपवंश तथा महावंश कैसे साहित्य हैं → पिटकोत्तर बौद्ध साहित्य
● बुद्धचरित, सौन्दरानंद तथा सारिपुत्र प्रकरण पुस्तकों के रचयिता कौन हैं → अश्वघोष
● शिखा समुच्चय, सूत्र समुच्चय तथा बोधिधर्मावतार पुस्तकें किसने लिखी हैं → शांतिदेव
● महायानियों के आगम से संबंधित क्या है → वैपुल्य सूत्र
● वैपुल्य सूत्र में कितनी पुस्तकें निहित हैं → 10
● प्रज्ञापारमिता, ललित विस्तार, समाधिराज तथा दशभूमिश्वर किसके अंतर्गत हैं → वैपुल्य सूत्र
● भगवान बुद्ध के सम्मान में निर्मित आम्रवन से संबंधित वेनुवन कहाँ स्थित है → राजगृह
● आम्रवन से संबंधित शासक कौन थे → बिम्बिसार
● आम्रपाली वन कहाँ स्थित था → वैशाली
● सालवन कहाँ स्थित था → कुशीनगर
● घोषितराम विहार कहाँ स्थित है → कौशाम्बी
● घोषितराम विहार से संबंधित शासक कौन था → उदयन
● कूटाग्रशाला कहाँ स्थित थी → वैशाली
● कूटाग्रशाला से संबंधित कौन-से शासक थे → लिच्छवी
● पूर्वाराम विहार कहाँ स्थित था → श्रावस्ती (सहेत)
● पूर्वाराम विहार से संबंधित शासक कौन था → प्रसेनजित
● जेतवन कहाँ स्थित था → श्रावस्ती (सहेत)
● जेतवन से संबंधित कौन था → अनाथपिंडक
● कुकुच्छानंद, कवक भंजन, कश्यप, शाक्यमुनि तथा मैत्रेय किनके रूप हैं → पाँच बुद्ध
● आत्मोकर्षण के लिए छंद, वीर्य, चित्त और विमर्श की प्रधानता क्या कहलाते हैं → चार ऋषिपाद
● बुद्ध की पाँच इंद्रिय (शक्ति) कौन-सी हैं → श्रद्धा, वीर्य, स्मृति, समाधि, प्रज्ञा
● स्मृति, धर्म-विजय, वीर्य, प्रीति, प्रश्रब्धि, समाधि व उपेक्षा क्या हैं → सात बोध्यंग
● ब्राह्मण धर्म में पंचदेवोपासना में कौन-से देव शामिल थे → विष्णु, ब्रह्मा, शिव, गणेश, सूर्य
● उत्तर दिशा के देवता कौन माने जाते हैं → सोमदेव
● दक्षिण दिशा के देवता कौन माने जाते हैं → यम


ह भी पढ़ें:- 
महाजनपद काल संबंधित जानकारी
मौर्य साम्राज्य संबंधित जानकारी
मौर्योत्तर काल संबंधित जानकारी

● पूर्व दिशा के देवता कौन माने जाते हैं → इन्द्र
● पश्चिम दिशा के देवता कौन माने जाते हैं → वरुण
● सात अरण्य कौन-से हैं → दंडक, वेदार, सैंधव, पुष्कर, विंध्य, धर्म, कुरूजांगल
● भागवत संप्रदाय के प्रवर्तक कौन माने जाते हैं → वासुदेव कृष्ण
● किस उपनिषद् में कृष्ण को घोर अंगीरस का शिष्य एवं देवकी पुत्र बताया गया है → छांदोग्य
● इस महापुरुष (कृष्ण) के दैवीय स्वरूप का प्राचीनतम संदर्भ किस ग्रंथ में मिलता है → अष्टाध्यायी
● अष्टाध्यायी के रचयिता कौन थे →  पाणिनी
● पाँच वृष्णि वीरों में वासुदेव व देवकी से उत्पन्न पुत्र किसे कहा गया है →  वासुदेव कृष्ण
● वासुदेव और रोहिणी से उत्पन्न पुत्र किसे कहा गया है → संकर्षण
● कृष्ण और रुक्मिणी के पुत्र को क्या कहा गया है → प्रद्युम्न
● कृष्ण और जाम्बवंती के पुत्र को क्या कहा गया है →  साम्ब
● प्रद्युम्न के पुत्र को क्या कहा गया है →  अनिरुद्ध
● चतुर्व्यह का प्राचीनतम उल्लेख किस ग्रंथ में मिलता है →  ब्रह्मसूत्र
● मथुरा के समीप प्रथम शती के प्राप्त शिलालेख में किस महिला का उल्लेख मिलता है → तोषा
● इस शिलालेख में वर्णित एक मंदिर में पाँच वृणिवीरों की मूर्ति स्थापना किसके द्वारा कराई गई थी →  तोषा
● दूसरी शताब्दी ईसा पूर्व में किसके द्वारा भागवत पूजा हेतु गरुड़ध्वज निर्माण का उल्लेख है →  हेलियोडोरस
● यहाँ भागवत से क्या अभिप्राय है→ पाँच वृष्णि वीर
● तृतीय-चतुर्थ ईसा पूर्व से भागवत संप्रदाय किस संप्रदाय में परिणत हो गया→ वैष्णव
● कृष्ण, विष्णु का तादात्म्य नारायण से स्थापित होने पर वैष्णव धर्म क्या कहलाया →  पाञ्चरात्र धर्म
● वासुदेव, लक्ष्मी, संकर्षण, प्रद्युम्न व अनिरुद्ध किसके प्रमुख देवता हैं → पाञ्चरात्र व्यूह
● पोयगई, पूडम, पेय, तिरुमंगई व आण्डल किस प्रकार के संत थे →  अलवार
● ऋग्वेद में शिव का किन नामों से उल्लेख किया गया है → भव, शर्व, पशुपति, भूपति
● व्रात्यों का स्वामी किन्हें कहा गया है →  शिव
● किस विद्वान ने नगर के मध्य में शिव सदन स्थापित करने को कहा है →  कौटिल्य
● पल्लवकालीन नयनारों द्वारा भक्ति गीतों को किसमें संकलित किया गया→ देवारम
● अप्पार, तिरूज्ञान, समबंदर, सुंदरमूर्ति, मणिक्कवाचगर किनके नाम हैं → नयनार संत
● शैवधर्म में पाशुपत संप्रदाय के लोग हाथ में क्या धारण करते थे →  लगुण्ड या दंड
● भैरव मुख्य आराध्य को किसका अवतार माना जाता है →  शिव
● कापालिक संप्रदाय के अनुयायी हाथ में क्या धारण करते हैं →  नरमुण्ड
● अल्लप्रभु एवं उनके शिष्य बसब किस संप्रदाय के प्रवर्तक थे →  लिंगायत
● इसका उल्लेख किस पुराण में मिलता है→  बसब
● कालामुख संप्रदाय के अनुयायियों को शिवपुराण में क्या कहा गया है →  महाव्रतधर
● कश्मीरी शैव संप्रदाय के संस्थापक कौन थे → वसुगुप्त
● नाथ संप्रदाय के प्रवर्तक कौन थे मच्छेन्द्रनाथ
● 10वीं-11वीं शताब्दी में नाथ संप्रदाय का प्रचार-प्रसार किसने किया →  बाबा गोरखनाथ
● शाक्त संप्रदाय के कौन-से प्रमुख दो वर्ग हैं →  कौलमार्गी व समयाचारी
● कौलमार्गी किसकी उपासना करते हैं→  पंचभकार
● पंचभकार से क्या अभिप्राय है →  मद्य, मांस, मत्स्य, मुद्रा, मैथुन
● मत्स्य, कूर्म, वाराह, नृसिंह, वामन, परशुराम, राम, कृष्ण, बुद्ध, कल्कि किनके अवतार हैं→  विष्णु
● इनमें से अभी तक कौन-सा रूप अवतरित नहीं है →  कल्कि
● धार्मिक संप्रदाय आजीवक या नियतिवाद (भाग्यवादी) के प्रतिपादक कौन थे →  मक्खलि गोसाल
● भौतिकवाद संप्रदाय के प्रतिपादक कौन थे →  वृहस्पति एवं आवकि
● घोर अक्रियवाद संप्रदाय के प्रतिपादक कौन थे →  पुरणकश्यप
● उच्छेदवाद/जड़वाद (भौतिकवादी) संप्रदाय के प्रतिपादक कौन थे→  अजीतकेशकम्बलिन
● अनिश्चयवाद (संदेहवादी) संप्रदाय के प्रतिपादक कौन थे →  संजयबेलट्ठी पुत्र
● आसक्तवाद (नियतिवादी) संप्रदाय के प्रतिपादक कौन थे →  पकुधकच्चायन
● न्यायदर्शन के प्रणेता कौन थे → हर्षि गौतम
● इस दर्शन की मूल पुस्तक कौन-सी है →  न्यायसूत्र
● न्यायसूत्र भाष्य के भाष्यकार कौन हैं → वात्सायन
● न्यायवार्तिक के भाष्यकार कौन हैं →  उद्योतकर
● वैशेषिक दर्शन के प्रणेता कौन हैं → कणाद
● तत्व चिंतामणि के भाष्यकार कौन हैं →  गणेश उपाध्याय
● पदार्थ धर्मसंग्रह के भाष्यकार कौन हैं →  प्रशस्तपाद
● किरणावली के भाष्यकार कौन हैं →  उदयनाचार्य
● सांख्य दर्शन के प्रणेता कौन हैं → कपिल
● सांख्य कारिका के भाष्यकार कौन हैं → ईश्वरकृष्ण
● योग दर्शन के प्रणेता कौन हैं →  पतंजलि
● तत्व वैशारदी के भाष्यकार कौन हैं → व्यास
● मीमांसा दर्शन के प्रणेता कौन हैं→  जैमिनी
● मीमांसा दर्शन की मूल पुस्तक कौन-सी है →  पूर्व मीमांसा सूत्र
● वेदांत दर्शन के प्रणेता कौन हैं →  वादरायण व्यास
● वेदांत दर्शन की मूल पुस्तक कौन-सी हैं →  ब्रह्म सूत्र
● पाश्र्वनाथ के अनुयायियों को क्या कहा जाता है →  निग्रंथ
● पाश्र्वनाथ की प्रथम अनुयायी कौन थीं→  वामा (माता), प्रभावती (पत्नी)
● महावीर ने पहला उपदेश कहाँ पर दिया था →  वितुलाचल पहाड़ी (राजगृह)
● श्लाका पुरुष की अवधारणा किस धर्म से संबंधित है→  जैन धर्म
● महावीर के उपदेशों को ग्रंथों में किसने लिपिबद्ध किया→  संभूतिविजय, भद्रबाहु
● जैन धर्म की चौथी महासभा मथुरा में किसकी अध्यक्षता में हुई →  आर्य स्कन्दिल
● जैन धर्म की चौथी महासभा वल्लभी में किसकी अध्यक्षता में हुई →  नागार्जुन सूरी
● विष्णु पुराण एवं भागवत पुराण में ऋषभदेव का उल्लेख किस रूप में हुआ →  नारायण का अवतार
● जैन धर्म में मुक्ति के लिए आवश्यक कठोर कर्म को क्या कहा जाता है→ परीषह
● बौद्ध धर्म की गीता किसे कहते हैं → धम्मपद
● कोरिया में बौद्ध धर्म का प्रचार किसने किया → मालानंद
● श्रावकयान किसे कहा जाता है → हीनयान
● बोधिसत्वयान किसे कहा जाता है→ महायान
● 5वीं सदी में कर्नाटक में बने जैन मठों को किस नाम से जाना जाता है → बसदि
● जैन धर्म में मोक्ष पा चुके सिद्ध पुरुष को क्या कहा जाता है → तीर्थंकर
● जो सिद्ध निर्वाण पाने के निकट हो, वह क्या कहलाता है → अर्हत
● संन्यासी समूह का प्रमुख क्या कहलाता है → आचार्य
● अध्यापक या संत को क्या कहते हैं → उपाध्याय
● गृहस्थ आश्रम वालों के लिए जैन धर्म के नियम को क्या कहा जाता है → अणुव्रत
● गृहस्थ जीवन में रहकर बौद्ध धर्म मानने वाले को क्या कहा जाता है → उपासक
● ओबाइय सूत्र में अजातशत्रु को क्या कहा गया है → महावीर का भक्त
● बौद्धों के प्रस्ताव पाठ को क्या कहा जाता है → अनुसावन
● बौद्ध संघों में प्रशासनिक गुप्त मतदान को क्या कहा जाता था → गुल्हक

इस जानकारी की PDF फ़ाइल डाउनलोड करें-


आशा है यह लेख आपको पसंद आया होगा। ऐसी ही जानकारी और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए हमसे सोशल मीडिया पर जुड़े रहे। इस जानकारी अपने दोस्तों को ज़रूर शेयर करें।

ह भी पढ़ें:- 


गुप्त साम्राज्य संबंधित जानकारी
गुप्तोत्तर काल संबंधित जानकारी
प्रमुख गुफाएँ, स्तूप एवं चैत्य संबंधित जानकारी

Tags: धार्मिक आंदोलन इन हिंदी, धार्मिक आंदोलन GK, धार्मिक आंदोलन प्रश्न उत्तर, धार्मिक आंदोलन pdf notes 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad