रेडियोधर्मिता संबंधित जानकारी | Radioactivity Related Knowledge in Hindi - EXAMS TIPS HINDI

Sunday, January 5, 2020

रेडियोधर्मिता संबंधित जानकारी | Radioactivity Related Knowledge in Hindi

रेडियोधर्मिता संबंधित जानकारी | Radioactivity Related Knowledge in Hindi

इस लेख में रसायन विज्ञान के महत्वपूर्ण टॉपिक रेडियोधर्मिता (Radioactivity) से संबंधित जानकारी दी गयी है, जो अधिकांश प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाते है। यह लेख एसएससी(SSC), यूपीएससी(UPSC), राज्य पीएससी(State PSC), रेलवे(Railway), पीएसयू(PSU) एवं अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

Radioactivity, रेडियोधर्मिता
Radioactivity Related Knowledge in Hindi
● रेडियोधर्मिता की खोज किन वैज्ञानिकों ने की →  हेनरी बैकुरल, मैरी क्यूरी
● रेडियम धातु से निकली विशेष प्रकाश किरणें चुम्बकीय क्षेत्र में रखने पर कितने प्रकार की किरणों में खंडित हो जाती हैं→  तीन
● जो किरणें ऋणात्मक क्षेत्र से आकर्षित होती हैं, क्या कहलाती हैं →  अल्फा (α) किरणें
● जो किरणें धनात्मक क्षेत्र से आकर्षित होती हैं, क्या कहलाती हैं→  बीटा (β) किरणें
● जो किरणे चुंबकीय क्षेत्र से अविक्षेपित रहती हैं, क्या कहलाती हैं →  गामा (γ) किरणे
● अल्फा किरणों का वेग प्रकाश के वेग का कितना भाग होता है→  1/10
● अल्फा किरणें कितने सेमी मोटी एल्युमीनियम की चादर को बेध सकती हैं→  0.002 सेमी
● अल्फा किरणें फोटोग्राफिक प्लेट पर क्या प्रभाव डालती हैं →  काला कर देती हैं
● कौन सी किरणों का वेग प्रकाश के वेग के बराबर होता है→  γ किरणें
● γ किरणें कितने सेमी मोटी एल्युमीनियम की चादर को बेध सकती हैं →  1.00 सेमी
● किसी तत्व के परमाणु नाभिक के विघटित होने को क्या कहते हैं →  नाभिकीय विघटन
● रेडियोएक्टिव पदार्थ की अर्द्ध आयु कुछ सेकेंडों से लेकर कितने समय तक हो सकती है →  लाखों वर्ष
● अल्फा कणों का He नाभिक के उत्सर्जित होने की क्रिया क्या कहलाती है →  α विघटन
● कौन से कण ऋणावेशित इलेक्ट्रॉन कण हैं →  β कण
● कौन सी किरणें नाभिकीय आवेश के पुनर्वितरित होने से उत्पन्न होती हैं → γ किरणें
● किसी भारी तत्व के परमाणु के नाभिक के दो भागों में टूट जाने की क्रिया क्या कहलाती है →  नाभिकीय विखण्डन
यह भी पढ़ें:-
रसायन विज्ञान की विभिन्न शाखाएँ संबंधित जानकारी
पदार्थ की संरचना और प्रकृति संबंधित जानकारी
परमाणु संरचना संबंधित जानकारी
तत्वों का आवर्ती वर्गीकरण संबंधित जानकारी
गैसों का आचरण संबंधित जानकारी

● किस सिद्धांत पर परमाणु बम बनाया जाता है → नाभिकीय विखण्डन
● उत्तरी अफ्रीका की यूरेनियम खान में पृथ्वी द्वारा विखण्डन कितने वर्ष पूर्व हुआ था→  दो करोड़ वर्ष
● किसी नाभिकीय अभिक्रिया में दो बहुत हल्के नाभिक परस्पर संयुक्त होकर क्या बनाते हैं → भारी नाभिक
● नाभिकों का संलयन कितने ताप पर होता है →  एक करोड़ डिग्री
● प्रथम हाइड्रोजन बम सन् 1952 में किस देश के वैज्ञानिकों ने बनाया था →  अमेरिका
● कौन सा विस्फोट परमाणु बम के विस्फोट से कई गुना अधिक विध्वंसक →  संलयन विस्फोट
● अंतरिक्ष वातावरण में कई उच्च ऊर्जा इलेक्ट्रॉन, प्रोटॉन तथा नाभिकों से उत्सर्जित कण क्या कहलाते हैं →  कॉस्मिक किरणें
● कॉस्मिक किरणों के हमारे वायुमंडल के संपर्क में आने पर क्या उत्पन्न होते→ पाइऑन, म्यूऑन
● कॉस्मिक किरणे कितने मोटे शीशे के टुकड़े से आसानी से निकल जाती हैं →  1 इंच
● रेडियोएक्टिवता का मात्रक क्या होता है→  क्यूरी
● किस वैज्ञानिक ने द्रव्यमान स्पेक्ट्रोग्राम से प्राप्त तत्वों के परमाणु भार पूर्णांकों के अंतर को प्रदर्शित किया →  एस्टऑन
● उपरोक्त अंतर को प्रदर्शित करने हेतु किस शब्द का प्रयोग किया →  पैकिंग फ्रैक्शन
● प्रथम न्यूक्लीय रिएक्टर 1942 ई. में किस देश में बनाया गया→   अमेरिका
● भारत ने अपना प्रथम परमाणु परीक्षण किस तिथि को किया था →  18 मई, 1974
● 18 मई, 1974 को भारत ने परमाणु परीक्षण किस स्थान पर किया→  पोखरन (जैसलमेर)
● भारतीय एटॉमिक एनर्जी कमीशन की स्थापना कब हुई →   1948
● अप्सरा, सारयर, जलीना, पूर्णिमा, ध्रुव, कामिनी नाम किससे संबंधित हैं →  भारतीय एटॉमिक रिएक्टर्स
● राणा प्रताप सागर एटॉमिक पावर प्लांट कहाँ पर स्थित है → रावतभाटा (राजस्थान)
● तारापुर एटॉमिक पावर प्लांट कहाँ पर स्थित है → महाराष्ट्र (मुंबई के निकट)
● नरोरा पावर प्लांट कहाँ पर स्थित है→ उत्तर प्रदेश (बुलंदशहर के निकट)
● कलपक्कम एटॉमिक पावर प्लांट कहाँ पर स्थित है →  तमिलनाडु (चेन्नई के निकट)
● मोतीचूर एटॉमिक पावर प्लांट कहाँ पर स्थित है →  गुजरात
● भारत के गुरुजल संयंत्रों की संख्या कितनी है →  पाँच
● किसी तत्व के समस्थानिक क्या कहलाते हैं जिनके नाभिक स्वतः विघटित होकर अक्रिय किरणें उत्सर्जित करते रहते हैं→  रेडियोएक्टिव
● रुधिर परिसंचरण तंत्र की खराबी ज्ञात करने में किन रेडियोएक्टिव समस्थानिकों का उपयोग होता है →  Na-24 अर्द्ध आयु 14.8 घंटे
● अजीवी कार्बनिक वस्तुओं की आयु निर्धारित करने तथा फोटो सिंथेसिस के अध्ययन में कौन रेडियोएक्टिव समस्थानिक उपयोगी है→  C-14 अर्द्ध आयु 5570 वर्ष
हमारी हमेशा कोशिश रही है कि पाठकों को सभी विषयों के महत्वपूर्ण जानकारी से अवगत कराए। उम्मीद है आपको यह लेख पसंद आया होगा। सभी प्रकार के प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी हिंदी भाषा में करने के लिए हमसे जुड़े रहें। इस जानकारी को अपने दोस्तों से ज़रूर शेयर करें।
यह भी पढ़ें:-
रासायनिक बंधन संबंधित जानकारी
रासायनिक अभिक्रियाएँ संबंधित जानकारी
धातुओं से संबंधित जानकारी
अधातुओं से संबंधित जानकारी
विलयन संबंधित जानकारी

अम्ल, क्षार तथा लवण संबंधित जानकारी

No comments:

Post a Comment