पढ़ाई में मन लगाने के 15 बेहतरीन तरीके | Best Tips to Grow Interest in Studies in Hindi - EXAMS TIPS HINDI

Tuesday, April 7, 2020

पढ़ाई में मन लगाने के 15 बेहतरीन तरीके | Best Tips to Grow Interest in Studies in Hindi

पढ़ाई में मन लगाने के 15 बेहतरीन तरीके | Best Tips to Grow Interest in Studies in Hindi

नमस्कार दोस्तों, Exams Tips Hindi वेबसाइट में आपका स्वागत है। बहुत से ऐसे स्टूडेंट्स होते है जिनका पढ़ाई में मन नही लगता है, परंतु वो पढ़ना चाहते है। अधिकांश स्टूडेंट्स इंटरनेट पर सर्च करते है- पढ़ाई में मन लगाने  के बेहतरीन तरीके, पढ़ाई में मन कैसे लगाएं, पढ़ाई में मन लगाने के टिप्स इन हिंदी इत्यादि। आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम पढ़ाई में मन लगाने के लिए बेहतरीन तरीकों को शेयर करेंगे। दोस्तों बिना स्टडी किए जीवन में सफल होना मुमकिन नहीं है। और ऐसे में पढ़ाई में मन ना लगे तो कैसे काम चलेगा। आप सोच रहे होंगे कि पढ़ाई सिर्फ़ नौकरी पाने के लिए की जाती है, मैं तो बिज़नेस कर लूंगा। लेकिन आप ग़लत सोचते है, एक कामयाब इंसान बनने के लिए पढ़ाई बहुत ज़रूरी होता है, चाहें आप बिजनेसमैन बने, कांट्रेक्टर बनें या फिर एक किसान। सफ़ल होना है तो पढ़ना पड़ेगा। दोस्तों कभी-कभी परीक्षा बहुत नज़दीक आ जाते हैं और हम पूरी तरह से तैयार भी नहीं होते हैं और पढ़ने में मन भी नही लगता। उनके लिए भी यह लेख बहुत उपयोगी है। यदि आपके पास इससे संबंधित किसी प्रकार का प्रश्न है तो नीचे 👇 कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है।

पढ़ाई में मन लगाने के बेहतरीन तरीके | Best Tips to Grow Interest in Studies in Hindi

1    अपना लक्ष्य निर्धारित करें
सबसे पहले आपको अपना लक्ष्य निर्धारित करना है कि पढ़ाई करके आपको क्या करना है। लक्ष्य आपका कुछ भी हो सकता है जैसे कि सरकारी नौकरी, बिज़नेस, नेता, इंजीनियर, अभिनेता, चपरासी, वक़ील, डॉक्टर, क्लर्क इत्यादि। जब आप अपना लक्ष्य का चयन कर लेते है, तब आप उसे पाने के लिए कोशिश करते है। यदि आपको बैंक में क्लर्क बनना है तो आप उसके लिए गणित, अंग्रेजी की पढ़ाई करेंगे या फिर वक़ील बनना है तो लॉ की पढ़ाई करेंगे। आपका दिमाग़ लक्ष्य की ओर अग्रसर हो जाएगा। आप सुबह जाग कर प्रार्थना के बाद अपने लक्ष्य के बारे में एक बार सोंचे की आप लक्ष्य से कितनी दूर है।

2    योग/ध्यान करें
योग और मैडिटेशन करने से मन शांत रहता है, और आपके अंदर की नकारात्मक विचार ख़त्म हो जाते है। सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न होती है। यदि आपके मन में पढ़ाई ना करने के नकारात्मक विचार आते है, तो योग और ध्यान आपके लिए बहुत उपयोगी होगा।

3    शांत वातावरण ढूंढे
शांत या एकाग्र वातावरण पढ़ाई के लिए बहुत सही होता है। आप तो जानते है मन बहुत ही चंचल होता है। हम जब ऐसी जगह पढ़ाई करते है जहाँ शोरगुल होता है, वहां हमारे कान में कोई भी आवाज आती है तो मन उसे सुनने की कोशिश करता है। फिर हमारी पढ़ाई में बाधा उत्पन्न होती है। इस बाधा से दूर रहने तथा एकाग्र मन से पढ़ाई करने के लिए शांत वातावरण बहुत जरूरी है।

यह भी पढ़ें:-
एग्जाम की तैयारी के टिप्स
प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए सामान्य ज्ञान की तैयारी कैसे करें
प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए गणित की तैयारी कैसे करें

4   ख़ुद पर विश्वास रखें
अक्सर हमारे मन में ख़्याल आता है कि इस कार्य को कर पाएंगे की नही- जैसे कि पढ़ाई को ही ले लीजिए। यदि आप आईएएस की तैयारी कर रहें है, और आपके मन में बार-बार यह ख्याल आता है कि आईएएस अफ़सर मैं बन पाऊंगा की नही?? तो ऐसे नकारात्मक सोच को छोड़ दे। अपने आप पर विश्वास करें। जिससे कि आपका मन पढ़ाई में लगा रहेगा।

5    स्टडी टाइम टेबल बनाएं
पढ़ाई के लिए समय सारणी बनाना बहुत ज़रूरी होता है। आप सभी विषयों के लिए समय सारणी बना लें। आपको जिस विषय को जब पढ़ना हो, उसके आधार पर बनाएं। पढ़ाई के लिए टाइम टेबल बनाना और उसका पालन करना, अनुशासन का उदाहरण है। आपको हमेशा अनुशासित रहना चाहिए। हो सके तो टाइम टेबल में सामान्य दिनचर्या भी जोड़ दें। पाठ्यक्रम को कई भागों में बांट लें और टाइम टेबल में सही से आवंटित करें। जिससे कि परीक्षा शुरू होने से पहले आप पूरे पाठ्यक्रम की तैयारी कर लें।

6    दूसरों को सिखाएं
पढ़ाई में मन लगाने का यह भी एक तरीका है। आप जितना ज्यादा दूसरों को सिखाएंगे उतना ही आपका नॉलेज बढ़ेगा और पढ़ाई में मन लगेगा। जब आप किसी को कुछ सिखाते है तो यह ज़रूरी नही कि आप उसका सारा उत्तर दे पाए। इसके लिए आप अच्छे से पढ़ कर जाएंगे या फिर सिखाते समय कोई प्रश्न रह गया है तो बाद में पढ़ेंगे और उस प्रश्न का उत्तर देंगे। दूसरों को पढ़ाने से आपका रिवीजन भी हो जाता है। इसलिए अपने नॉलेज को दूसरों को शेयर करने से आपका पढ़ाई में मन लगेगा।

7    एक समय मे एक ही काम करें
यह बहुत जरूर होता है कि आप जब भी कोई कार्य करते है तो सिर्फ उसी को करें। जिससे आपका उस कार्य में मन लगा रहे। कुछ स्टूडेंट्स की गंदी आदत होती है, पढ़ाई करते समय टेलीविजन देखना, पढ़ाई करते समय खाना, पढ़ाई करते समय मोबाइल फोन इस्तेमाल करना इत्यादि। दोस्तों आपको पढ़ाई करते समय सिर्फ पढ़ाई ही करनी चाहिए। पढ़ाई के बीच मे अन्य कार्य आपके मन को विचलित करता है। इसलिए पढ़ाई करते समय सिर्फ पढ़ाई करें। 

8    नोट्स बनाएं
जब भी आप कोई विषय पढ़ते है, उसका नोट्स बना लें। नोट्स बनाने के कई फायदे होते हैं। मेरा एक सुझाव यह है कि किसी भी विषय का नोट्स अपनी आसान भाषा में बनाएं। नोट्स में आप ट्रिक भी शामिल करें। कुछ टॉपिक ऐसे होते है जो बार बार याद करने पर भुल जाता है, लेकिन ट्रिक से याद करने पर आसानी रहती है।

9   तनावमुक्त रहें
पढ़ाई को लेकर अक्सर स्टूडेंट्स तनाव में रहते है। तनावग्रस्त दिमाग़ कभी भी अच्छा प्रदर्शन नही कर सकता। तनाव लेने से आपकी पढ़ाई ठीक से होने वाली नही है, इसलिए तनाव से दूर रहें। जिन कारणों से आपको तनाव होता है, उसका विश्लेषण करें। विश्लेषण करने के बाद आप तनाव के सभी कारणों को सॉल्व करें। करियर संबंधित तनाव कभी भी ना लें, आपका करियर आपकी मेहनत और पढ़ाई में लगन पर निर्भर करता है।

10    ख़ुद की परीक्षा लीजिए
खुद की परीक्षा लेने का तात्पर्य यह है कि जब आप पढ़ाई करके थक जाते है तो, खुद से एक टेस्ट लीजिए। ऐसा करने से आपकी पढ़ाई की स्थिति का पता चलेगा और आगे पढ़ने का मन करेगा। आप टेस्ट ऑनलाइन या ऑफलाइन भी दे सकते है। टेस्ट देने से आपका मनोबल बढ़ता है, और पढ़ाई में मन भी लगा रहता है।

11    पढ़ाई के बीच ब्रेक लें
पढ़ाई के बीच मे ब्रेक लेना बहुत ही ज़रूरी होता है। जब हम पढ़ाई करते है तो हमारा दिमाग़ थक जाता है। पढ़ाई करना भी एक कार्य ही होता है। इस ब्रेक में आप वो कार्य करें जिससे आपको अच्छा लगता है। इस ब्रेक में आप कुछ भी कर सकते है जैसे कि ऑडियो/वीडियो गाने सुनना, सोशल मीडिया पर चैट करना, कुछ खाना या फिर टीवी देखना इत्यादि।

12    व्यायाम करना फायदेमंद
बहुत से स्टूडेंट्स ऐसे भी होते है जो पढ़ाई के तनाव में व्यायाम करना छोड़ देते है। वो लोग व्यायाम करने वाले समय में भी पढ़ाई करने की सोचते है। दोस्तों हर एक चीज की क्षमता होती है चाहें वो हमारा दिमाग़ ही क्यों ना हों। स्वस्थ दिमाग़ के लिए व्यायाम करना बहुत ही फायदेमंद होता है। व्यायाम करने से शरीर के साथ-साथ मस्तिष्क भी स्वस्थ रहता है और दिमाग़ फ़्रेश रहता है। जिससे आपको पढ़ाई करने में मन भी लगेगा।

13    पूरी नींद ले
अब बात आती है नींद की यानी कि आपको कितना सोना चाहिए। एक स्वस्थ शरीर के लिए 8 घंटे सोना चाहिए। आपको रोज़ाना 7 से 8 घंटे रोज़ाना सोना चाहिए। यह आप रोज़ाना की दिनचर्या में बना लीजिए चाहे वो सामान्य समय हो या परीक्षा चल रही हो। यदि आप सही से नींद नही लेंगे तो पढ़ाई करते समय नींद आएगी और पढ़ाई में बाधा आएगी।

14    पौष्टिक व बैलेंस डाइट लें
आपके भोजन में पौष्टिक आहार होना चाहिए। पढ़ाई करने के लिए भी कैलोरी की ज़रूरत पड़ती है। रोज़ाना सही मात्रा में पौष्टिक आहार लें। कभी भी भोजन बहुत ज़्यादा नही खाना चाहिए। आवश्यकता से अधिक खाने से पढ़ाई करते समय नींद आती है, जिससे पढ़ाई में बाधा होती है।

15    अलग-अलग विषय पढ़ें
अलग-अलग विषय पढ़ने का मतलब यह है कि आप एक दिन में सिर्फ एक ही विषय ना पढ़ें। रोज़ाना अलग-अलग विषय पढ़ना चाहिए। एक ही विषय पढ़ने से दिमाग़ उब जाता है, और धीरे-धीरे पढ़ाई से मन विचलित होने लगता है। आपको समय सारणी (Time Table) बनाते समय यह भी ध्यान देना है कि रोज़ाना अलग-अलग विषय पढ़ना हो।

दोस्तों यह थी हमारी पढ़ाई में मन लगाने के टिप्स है। यहां पर एक बात बताना चाहेंगे, कि आप कितने भी टिप्स पढ़ लें, लेकिन आपको अपने ऊपर आत्मविश्वास होना चाहिए। यदि आपको अपने ऊपर आत्मविश्वास है तो कोई भी समस्या आपको सफल होने से नही रोक सकती। आत्मविश्वास नही होने पर कोई भी टिप्स या ट्रिक्स आजमाने से सफलता नही मिलेगी। इसलिए आप खुद पर विश्वास रखें। बस एक बात याद रखना-----

"जो आप सोच सकते है, वो आप कर सकते है"

जय हिंद!

यह भी पढ़ें:-

No comments:

Post a Comment