धातुओं, अधातुओं तथा उनकें यौगिकों के उपयोग | Metals, Non-Metals and Their Compounds Uses - EXAMS TIPS HINDI

Wednesday, April 22, 2020

धातुओं, अधातुओं तथा उनकें यौगिकों के उपयोग | Metals, Non-Metals and Their Compounds Uses

धातुओं, अधातुओं तथा उनकें यौगिकों के उपयोग |  Metals, Non-Metals and Their Compounds Uses

इस आर्टिकल विभिन्न धातुओं, अधातुओं तथा उनकें यौगिकों (Metals, Non-Metals and Their Compounds) के उपयोगों की जानकारी को दिया गया है। इस टॉपिक में से विभिन्न परीक्षाओं में प्रश्न पूछे जाते है। यह आर्टिकल विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं आईएएस, एसएससी, रेलवे, नेवी, एयरफ़ोर्स, आर्मी, NTPC, लेखपाल, पुलिस इत्यादि में पूछें जाते है। यदि आप सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे है तो यह जानकारी आपके लिए बहुत ही उपयोगी है।

धातुओं, अधातुओं तथा उनकें यौगिकों के उपयोग, Metals, Non-Metals and Their Compounds Uses
धातुओं, अधातुओं तथा उनकें यौगिकों के उपयोग |  Metals, Non-Metals and Their Compounds Uses


■ फेरस ऑक्साइड
(i) हरा काँच बनाने में
(ii) फेरस लवणों के निर्माण में

■ फेरिस यौगिक (Fe3O4)
(i) जेवरात पॉलिश करने में
(ii) फेरिक लवणों के निर्माण में

■ फेरिक हाइड्रॉक्साइड (FeCOH3)
(i) दवा बनाने में
(ii) प्रयोगशाला में प्रतिकारक के रूप में

■ फेरस सल्फेट (FeSO47H2O)
(i) रंग उद्योग में
(ii) मोहर लवण बनाने में
(iii) स्याही बनाने में

■ आयोडीन
(i) कीटाणुनाशक के रूप में
(ii) रंग उद्योग में
(iii) औषधियों के उत्पादन में
(iv) टिंचर आयोडीन बनाने में

■ ब्रोमीन (Br)
(i) रंग उद्योग
(ii) टिंचर गैस बनाने में
(iii) प्रतिकारक के रूप में
(iv) औषधि बनाने में

■ नाइट्रस ऑक्साइड (N2O)
(i) शल्य चिकित्सा में

■ हाइड्रोक्लोरिक अम्ल (HCl)
(i) क्लोरीन बनाने में
(ii) अम्लराज बनाने में
(iii) रंग बनाने में
(iv) क्लोराइड लवण के निर्माण में

■ क्लोरीन
(i) हाइड्रोक्लोरिक अम्ल HCl के निर्माण में
(ii) मस्टर्ड गैस बनाने में
(iii ब्लीचिंगपाउडर बनाने में
(iv) कपड़ों एवं कागज को विरंजित करने में

■ सल्फ्यूरिक अम्ल (H2SO4)
(i) रंग उत्पादन में
(ii) प्रयोगाशाला में प्रतिकारक के रूप में
(iii) स्टोरेज बैटरी में
(iv) पेट्रोलियम के शुद्धिकरण में

■ सल्फर डाइऑक्साइड (SO2)
(i) ऑक्सीकारक के रूप में
(ii) विरंजक के रूप में

■ हाइड्रोजन सल्फाइड (H2S)
(i) सल्फाइड के निर्माण में
(ii) लवणों के भास्मिक मूलकों के गुणात्मक विश्लेषण में

■ सल्फर (S)
(i) कीटाणुनाशक के रूप में
(ii) बारुद बनाने में
(iii) रबर वल्केनाइज करने में
(iv) औषधि के रूप में

■ अमोनिया (NH3)
(i) प्रतिकारक के रूप में
(ii) आइस फैक्ट्री में
(iii) रेयॉन बनाने में

■ फॉस्फोरस (P)
(i) लाल फास्फोरस, दियासलाई बनाने में
(ii) श्वेत फॉस्फोरस, चूहे मारने की दवा बनाने में
(iii) फॉस्फोरस ब्रांज बनाने में

■ प्रोड्यूसर गैस (CO+N2)
(i) भट्टी गर्म करने में
(ii) सस्ते ईंधन के रूप में
(iii) धातु निष्कर्षण में

■ वाटर गैस (CO+H2)
(i) इंधन के रूप में,
(ii) वैल्डिंग में

■ कोल गैस
(i) इंधन के रूप में
(ii) निष्क्रिय वातावरण तैयार करने में

■ कार्बन डाइऑक्साइड (CO2)

(i) सोडा वाटर बनाने में
(ii) आग बुझाने में
(iii) हार्ड स्टील के निर्माण में

■ कॉर्बन मोनो-ऑक्साइड (CO)
(i) CaCl2 बनाने में

■ ग्रेफाइट
(i) इलेक्ट्रोड बनाने में
(ii) स्टोव की रंगाई में
(iii) लोहे के बने पदार्थ पर पोलिश करने में

■ हीरा
(i) आभूषण निर्माण में
(ii) कांच काटने में

■ फिटकरी K2SO4AI2(SO4)324H2O
(i) जल को शुद्ध करने में
(ii) चमड़े के उद्योग में
(iii) कपड़ों की रंगाई में

■ एल्युमीनियम सल्फेट [(AI2(SO4)3 18H2O]
(i) कागज उद्योग में
(ii) कपड़ों की छपाई में
(iii) आग बुकाने में

■ अनार्द्र एल्यूमीनियम क्लोराइड (AICl3)
(i) पेट्रोलियम के भंजन में

■ मरक्यूरिक क्लोराइड (HgCl2)
(i) कैलोमल बनाने में
(ii) कीटनाशक के रूप में

■ मरक्यूरिक ऑक्साइड (HgO)
(i) मलहम बनाने में
(ii) जहर के रूप में

■ मरकरी (Hg)
(i) थर्मामीटर में
(ii) सिन्दूर बनाने में
(iii) अमलगम बनाने में

■ जिंक सल्फाइड (ZnS)
(i) श्वेत पिगमेंट के रूप में

यह भी पढ़ें:-
रसायन विज्ञान की विभिन्न शाखाएँ संबंधित जानकारी
पदार्थ की संरचना और प्रकृति संबंधित जानकारी
परमाणु संरचना संबंधित जानकारी
तत्वों का आवर्ती वर्गीकरण संबंधित जानकारी
गैसों का आचरण संबंधित जानकारी
रेडियोधर्मिता संबंधित जानकारी

■ जिंक सल्फेट या उजला चोथा (ZnSO47H2O)
(i) कैलिको छपाई में
(ii) आँखों के लिए लोशन बनाने में
(iii) लिथेपोन के निर्माण में
(iv) चर्म उद्योग में

■ जिंक क्लोराइड (ZnCI2)
(i) टेक्सटाइल उद्योग में
(ii) कार्बनिक संश्लेषण में
(iii) ताम्र, काँच आदि की सतहों को जोड़ने में

■ जिंक ऑक्साइड (ZnO)
(i) मलहम बनाने में
(ii) मोरसेलिन में चमक लाने में

■ जिंक (Zn)
(i) बैटरी बनाने में
(ii) हाइड्रोजन बनाने में

■ कैल्शियम कार्बाइड (CaC2)
(i) कैल्शिासम सायनाइड एवं एसीटिलीन निर्माण में

■ ब्लीचिंग पाउडर (CaOCl2)
(i) कीटाणुनाशक के रूप में
(ii) रासायनिक उद्योगों के उपचायक के रूप में
(iii) कागज तथा कपड़ों के विरंजन में
(iv) क्लोरोफॉर्म के उत्पादन में

■ प्लास्टर ऑफ पेरिस (CaSO4)2 H2O
(i) मूर्ति बनाने में
(ii) शल्य चिकित्सा में पट्टी बाँधने में
(iii) छतों एवं दीवारों को चिकना बनाने में

■ कैल्शियम कार्बोनेट (CaCO3)
(i) चूना बनाने में
(ii) टूथपेस्ट, दंतमंजन बनाने में,
 (iii) सीमेंट उद्योग में

■ कैल्शियम सल्फेट सा जिप्सम (CaSO42H2O)
(i) स्वाद के रूप में
(ii) प्लास्टर ऑफ पेरिस बनाने में
(iii) अमोनियम सल्फेट बनाने में
(iv) सीमेंट उद्योग में

■ कैल्शियम (Ca)
(i) अवकारक के रूप में
(ii) पेट्रोलियम से सल्फर हटाने में

■ मैग्नीशियम क्लोराइड (MgCl2.6H2O)
(i) रूई की सजावट में
(ii) सोरेल सीमेंट के रूप में

■ मैग्नीशियम कार्बोनेट (MgCO3)
(i) दंत मंजन बनाने में
(ii) दवा बनाने में
(iii)जिप्सम लवण बनाने में

■ मैग्नीशियम (Mg)
(i) धातु-मिश्रण बनाने में
(ii) फ़्लैश बल्ब बनाने में
(a) थर्माइट वैल्डिंग बनाने में

■ मैग्नीशियम ऑक्साइड (MgO)
(i)औषधि निर्माण में
(ii) रबर-पूरक के रूप में
(a) बॉयलरों के रूप में

■ मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड [Mg(OH)3]
(i) चीनी उद्योग में मोलासिस से चीनी तैयार कराने में

■ कॉपर सल्फेट या नीला थोथा (CuSO45H2O)
(i) विद्युत सेलों में
(ii) कीटाणुनाशक के रूप में
(iii) कॉपर के शुद्धिकरण में
(iv) रंग बनाने में

■ क्यूपिक क्लोराइड (CuCl2.2H2O)
(i) ऑक्सीकरण के रूप में
(ii) जल-शुद्धिकरण में
(iii) धागों की रंगाई में

■ क्यूप्रस ऑक्साइड (Cu2O)
(i) लाल ग्लास के निर्माण में
(ii) पेस्टिसाइड के रूप में

■ क्यूप्रिक ऑक्साइड (CuO)
(i) ब्लू तथा ग्रीन ग्लास निर्माण में
(ii) पेट्रोलियम के शुद्धिकरण में

■ कॉपर (Cu)
(i) बिजली का तार बनाने में
(ii) बर्तन बनाने में
(ii) ब्रास तथा ब्रांज बनाने में

■ सोडियम नाइट्राइट (NaNO3)
(i) N2 बनाने में
(ii) प्रतिकारक के रूप में

■ सोडियम नाइट्रेट (NaNO2)
(i) खाद के रूप में
(ii) KNO3, HNO3 के निर्माण में

■ भारी जल (D2O)
(i) न्यूक्लियर प्रतिक्रियाओं में
(ii) ड्यूटरेटेड यौगिक के निर्माण में

■ सोडियम सल्फेट या ग्लॉबर लवण (Na2SO4.10H2O)
(i) औषधि बनाने में
(ii) सस्ता काँच बनाने में

■ सोडियम बाइकार्बोनेट या खाने का सोडा (NaHCO3)
(i) अग्निशामक यंत्र
(ii) बेकरी उद्योग
(iii) प्रतिकारक के रूप में

■ सोडियम कार्बोनेट या धावन सोडा (Na2CO3)
(i) ग्लास निर्माण में
(ii) कागज उद्योग में
(iii) जल की स्थायी कठोरता हटाने में
(iv) धुलाई के लिए घरों में घोवन सोडा के रूप में

■ हाइड्रोजन पैरॉक्साइड (H2O2)
(i) ऑक्सीकारक के रूप में
(ii) कीटाणुनाशक के रूप में
(ii) रेशम, ऊन, चमड़ा वगैरह के विरंजन में
(iv) लेड के रंगों में

■ हाइड्रोजन (H2)
(i) अमोनिया के उत्पादन में
(ii) कार्बनिक यौगिक के निर्माण में
(iii) द्रव हाइड्रोजन
(iv) रॉकेट ईंधन के रूप में

■ सोडियम (Na)
(i) सोडियम पैरॉक्साइड बनाने में

■ पोटेशियम परमैगनेट (KMnO4) या लाल दवा
(i) जल को कीटाणुरहित करने में

प्रमुख मिश्रधातुएँ, उनके मुख्य अवयव और उपयोग


★ कांसा (Bronze)
Cu+ Sn(90%+10%) (सिक्का, घंटी एवं बर्तन बनाने में)

★ जर्मन सिल्वर (German Silver)
Cu+Zn+Ni (60%+20%+20%) (बर्तन बनाने में)

★ रोल्ड गोल्ड (Rolled Gold)
Cu+Al (90%%+10%) (सस्ते आभूषण बनाने में)

★ गन मेटल (Gun Metal)
Cu+Zn+Sn (90%+2%+8%) (तोप, गेयर, बेयरिंग बनाने में)

★ डेल्टा मेटल (Delta Metal)
Cu+Zn+Fe(60%+38%+2%) (जहाज का पंखा बनाने में)

★ मुंज मेटल (Munz Metal)
Cu+Zn (60%+40%) (सिक्का बनाने में)

★ डच मेटल (Dutch Metal)
Cu+Zn (80%+20%) (सस्ते आभूषण बनाने में)

★ मोनेल मेटल (Monel Metal)
Cu+Ni(70%+30%) (क्षार रखने वाले बर्तन बनाने में)

★ टॉक (Solder)
Sn+Pb (67%+33%) (जोड़ों में टाँका लगाने में)

★ रोज मेटल (Rose Metal)
Bi+Pb+Sn (50% + 28% +22%) (स्वचालित फ्यूज बनाने में)

★ मैग्नेलियम (Magnelium)
Al+Mg (95% +5%) (हवाई जहाज का ढाँचा बनाने में)

★ ड्यूरेलुमिन (Durelumin)
Al+Cu+Mg+Mn (95%+4%+5%+5+%) (रिसोई का सामान बनाने में)

★ टाइप मेटल Type Meal)
Pb+Sb+Sn (82%+15%+3%) (प्रिंटिंग उद्योग में)

★ स्टेनलेस इस्पात
क्रोमियम+निकेल (बर्तन बनाने में और शल्य उपकरण में)

★ टंगस्टन इस्पात
टंगस्टन+क्रोमियम +वैनेडियम युक्त इस्पात (वेधन यंत्रों व उच्च वेग खराद मशीनों के कार्बन यंत्रों को बनाने में)

★ सिलिकन इस्पात
35% सिलिकन (ट्रांसफार्मर, विद्युत चुम्बक बनाने में, अम्लवाही पाइप और पम्प बनाने में)

★ कोबाल्ट इस्पात
35% कोबाल्ट (स्थायी चुम्बक बनाने में)

★ मैंगनीज इस्पात
7-20% मैंगनीज (हेलमेट, शैल संदलन यंत्रावली चोर अभेध तिजोरी बनाने में)

★ निकल इस्पात
क्रोमियम + निकेल (लैंप बल्ब, रेडियो वाल्व वैज्ञानिक उपकरण बनाने में)

उम्मीद है यह जानकारी आपको पसंद आयी होगी। यदि आपके पास कोई प्रश्न या सुझाव है तो नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। इस जानकारी को अपने दोस्तों से जरूर शेयर करें। धन्यवाद!

यह भी पढ़ें:-

No comments:

Post a Comment