व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (PPE) संक्षिप्त जानकारी | Personal Protective Equipments Short Notes - EXAMS TIPS HINDI

Monday, May 4, 2020

व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (PPE) संक्षिप्त जानकारी | Personal Protective Equipments Short Notes

व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (PPE) संक्षिप्त जानकारी | Personal Protective Equipments Short Notes

नमस्कार दोस्तों Exams Tips Hindi वेबसाइट में आपका स्वागत है। इस आर्टिकल में व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (PPE) की बारें में जानकारी दी गयी है। सभी छोटे अथवा बड़े उद्योगों में दुर्घटना का खतरा सदैव बना रहता है। इसलिए प्रत्येक कर्मचारी को अपना कार्य सावधानी पूर्वक करना चाहिए। ठीक ही कहा गया है कि 'चूक ही दुर्घटना का कारण है'। स्वयं की सुरक्षा करना पूरे समाज की सुरक्षा करना होता है। और एक सुरक्षित व्यक्ति ही देश को विकास के रास्ते पर ले जा सकता है। अतः प्रत्येक व्यक्ति को अपना कार्य करते समय व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों का प्रयोग अवश्य करना चाहिए। ये व्यक्तिगत या निजी सुरक्षा उपकरण (Personal Protective Equipments) निम्नलिखित हैं :

व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (PPE) संक्षिप्त जानकारी, PPE, Personal Protective Equipments Short Notes
व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (PPE) संक्षिप्त जानकारी | Personal Protective Equipments Short Notes

  • हैलमेट या टोपी
  • सुरक्षा चश्में
  • सुरक्षा जैकेट
  • दस्ताने
  • जूते
  • सेफ्टी बैल्ट
  1. हैलमेट या टोपी: इस की बनावट इस प्रकार की होती है किबड़ी आसानी  से सिर में डालकर बिना पकड़े प्रयोग कर सकते है। यह आपके सिर को चोट लगने में मदद करता है।
  2. सुरक्षा चश्में: बहुत से ऐसे कार्य होते है जिसे करते समय सुरक्षित चश्में प्रयोग किए जाते हैं। यह प्रायः बेकेलाइट का बना होता है। इसको बड़ी आसानी से आरामपूर्वक प्रयोग कर सकते हैं। यह आपकी आँखों को सुरक्षा प्रदान करता है।
  3. सुरक्षा जैकेट : इसके पहनने से कारीगर की छाती तथा शरीर का अगला भाग सुरक्षित रहता है। इससे बाजुएं भी सुरक्षित रहती हैं। कभी-कभी सुरक्षा जैकेट पर रिफ्लेक्टर भी लगे होते है जिससे अंधेरे में काम करने वाले के स्थान का पता चलता है।
  4. दस्ताने : हाथों की सुरक्षा के लिए दस्ताने प्रयोग किए जाते हैं। बहुत से ऐसे कार्य होते है जिसमें हाथ को खतरा होता है, जैसे कि वैल्डिंग, कटिंग, पेंटिंग इत्यादि। दस्तानों को भी सही ढंग से प्रयोग करना चाहिए। कभी भी दस्तानों से ज्यादा गर्म वस्तु नहीं उठानी चाहिए।
  5. जूते: अलग-अलग कार्यों के लिए अलग-अलग जूतों का उपयोग करना चाहिए। यदि आप मेकैनिकल इंडस्ट्री में कार्य करते है तो आपको इंडस्ट्रियल सेफ्टी शू पहनना चाहिए। विद्युत कार्य करते समय हमेशा रबड़ के मोटे तले के चमड़े के जूते प्रयोग करने चाहिए।
  6. सेफ्टी बैल्ट : इस की बनावट इस प्रकार की होती है कि बड़ी आसानी से प्रयोग कर सकते हैं। ऊंचाई पर काम करते समय सेफ़्टी बेल्ट का प्रयोग किया जाता है।

No comments:

Post a Comment