Header Ads Widget

प्रतिभाशाली स्टूडेंट कैसे बने | How to Become a Brilliant Student

प्रतिभाशाली स्टूडेंट कैसे बने | How to Become a Brilliant Student

नमस्कार दोस्तों, Exams Tips Hindi, शिक्षात्मक वेबसाइट में आपका स्वागत है। इस लेख में हमनें कुछ महत्वपूर्ण टिप्स शेयर किया है, जिसे फॉलो करने से आपको एक प्रतिभाशाली विद्यार्थी यानी कि Brilliant Student बनने में मदद मिलेगी। दोस्तों छात्र जीवन एक बहुत ही संघर्षमय होता है। विद्यार्थी जीवन में अनुशासन रहना बहुत ज़रूरी है। अपने जीवन में सफ़ल बनने के लिए स्टूडेंट्स को बहुत सी बातों को ध्यान में रखना पड़ता है। बहुत से ऐसे स्टूडेंट्स है जो पढ़ाई में बहुत होशियार होते है, परंतु उचित मार्गदर्शन के अभाव में सफल नहीं हों पाते है। कुछ स्टूडेंट्स ऐसे भी है जो पढ़ाई में कमजोर होते है, लेकिन अपनी मेहनत और अच्छी प्लानिंग से सफ़लता को प्राप्त करते है। इस लेख के माध्यम से हमने विद्यार्थी जीवन में फॉलो करने वाले कुछ महत्वपूर्ण बातों को शेयर किया है। यदि आप इन पॉइंट्स को फॉलो करेंगे तो अवश्य एक Brilliant स्टूडेंट बनेंगे। जैसा कि आप भी जानते है, कोई भी स्टूडेंट जन्म से Brilliant नही होता, बल्कि अपनी मेहनत, अनुशासन से बनते है। इस लेख में दिए गए 19 टिप्स आपको बनाएंगे Brilliant स्टूडेंट-


ब्रिलिएंट स्टूडेंट कैसे बनें, Brilliant Student Kaise Bane, क्लास टॉपर कैसे बनें, विद्यार्थी जीवन के महत्वपूर्ण टिप्स, Tips to become brilliant student, टैलेंटेड स्टूडेंट कैसे बनें, प्रतिभाशाली स्टूडेंट कैसे बनें
प्रतिभाशाली स्टूडेंट कैसे बने | How to Become a Brilliant Student

1 रोजाना सुबह जल्दी उठें

विद्यार्थी जीवन में अपने दिन की शुरुआत जल्दी उठने से करनी चाहिए। सुबह जल्दी उठने से आपका दिमाग़ एक दम फ्रेश रहता है। चारों तरफ एक दम शांति रहती है। सुबह जल्दी उठकर फ़्रेश होने के बाद अपनी दिनचर्या के अनुसार काम शुरू कर दें। यदि आप अपनी मन की शांति के लिए प्राणायाम करना चाहते है, तो प्राणायाम कीजिए। या फ़िर किसी कठिन विषय को पढ़ना चाहते है तो उसे पढ़े। अधिकांश विद्यार्थी सुबह जल्दी उठकर ऐसे विषय को पढ़ते है, जिसे वो कठिन समझते है। क्योंकि सुबह-सुबह वातावरण बिल्कुल शांत रहता है, और दिमाग़ भी फ्रेशब्रहत है।


2 एक घंटा व्यायाम जरूर करें

विद्यार्थी हो या नौजवान या फिर बुजुर्ग, हर किसी को व्यायाम करना बहुत ज़रूरी है। व्यायाम करने से शरीर और मस्तिष्क दोनों ही स्वस्थ रहता है। हर किसी को रोजाना व्यायाम करना चाहिए भले ही आप आधा घंटा ही क्यों न करें। रोजाना व्यायाम करने से बीमारियों से दूर रहा जा सकता है। जोकि विद्यार्थी जीवन मे बहुत महत्वपूर्ण है। इसलिए आप अपनी दिनचर्या में व्यायाम के लिए 1 घंटा जरूर रखें।


3 स्टडी टाइम टेबल बनाएं

टाइम टेबल यानी कि दिनचर्या, विद्यार्थियों के लिए बहुत ही ज़रूरी होता है। टाइम टेबल बनाकर उसे फॉलो करना अनुशासन का ही उदाहरण है। अपने टाइम टेबल में व्यायाम, मनोरंजन, खेलकूद, आराम, नींद इत्यादि को भी शामिल करें। आप अपना टाइम टेबल ऐसा बनाएं की आप फॉलो कर सकें। बहुत ज्यादा कठिन टाइम टेबल भी ना बनाएं।


4 अपना लक्ष्य निर्धारित करें

सबसे महत्वपूर्ण पॉइंट है- अपना लक्ष्य निर्धारित करना। जब तक आप अपना लक्ष्य निर्धारित नही करेंगे, तब तक उसे पाने के जिज्ञासा नही होगी। आपको आख़िरकार क्या बनना है?, यह आपको पता होना चाहिए। लक्ष्य बनाते समय यह ध्यान रहे कि कुछ भी नामुमकिन नही है। आपका कठिन परिश्रम और लगन जरूर उसे हासिल करने में मदद करेगा।


5 पढ़ाई को प्राथमिकता दें

विद्यार्थी जीवन का पढ़ाई ही मुख्य उद्देश्य होना चाहिए। अपने टाइम टेबल के अनुसार पढ़ाई करें। व्यस्त समय में किसी आसान विषय को पढ़े। आपके दिमाग़ में सुबह उठते ही पढ़ाई और अपने लक्ष्य का बातें दिमाग आनी चाहिए।

6 समय का सदुपयोग करें

समय का सदुपयोग करने का तात्पर्य यह है कि जब भी आपको समय मिले तो उसे अपनी पढ़ाई के लिए उपयोग में लाए। जैसा कि आपने स्कूल और कॉलेज में देखा होगा। कभी-कभी टीचर किसी कारणवश अपनी क्लास लेने नही आते है। तो यह समय रिवीजन के लिए बहुत अच्छा होता है। ऐसे ही आपको खाली समय को पढ़ाई के कार्यों में सदुपयोग करें।


7 अपने आप को व्यस्त रखें

अपने आप को व्यस्त रखने का मतलब यह है कि आप अपना कीमती समय को व्यर्थ न करें। पढ़ाई के अलावा आप को अपने शौक भी पूरे करने चाहिए। खाली समय मे आप को चेस, बैडमिंटन, फुटबॉल, क्रिकेट, बॉलीबाल इत्यादि खेलना चाहिए। यह याद रखिए की एक बार जो समय चला गया वह वापिस नही आएगा। इसलिए अपने समय का सदा सदुपयोग करें।


8 निरन्तर पढ़ाई की क्षमता बढ़ाते रहे

यदि आप का मन पढ़ाई में कम लगता है तो अपने मन को धीरे-धीरे पढ़ाई की ओर अग्रसर करें। शुरुआत में थोड़ी दिक्कत होतीं है। बाद में आप आसानी से अपने दिमाग को पढ़ाई की ओर मैनेज कर सकते है। मान लीजिए आप रोज़ाना घर पर 1 घंटे पढ़ते है। यदि आप इस समय को बढ़ाना चाहते है तो धीरे-धीरे बढ़ाएं। अगले दिन 1 घंटे 10 मिनट पढ़े। उसके अगले दिन 1 घंटे 20 मिनट पढ़े। ऐसा करने से आपकी पढ़ाई करने की क्षमता आपके अनुसार बढ़ जाएगी।


9 किसी भी कार्य/लक्ष्य की समय सीमा तय करें

इस पॉइंट का मतलब यह है कि हर एक विद्यार्थी को अपने लक्ष्य की समय सीमा निर्धारित करना चाहिए। मान लीजिए आपको गणित विषय की तैयारी 15 दिन में पूरी करनी है। इसके लिए आपको गणित विषय को कितने घंटे पढ़ना है? वो आपको तय करना है।  समय सीमा का निर्धारण बहुत जरूरी है। इससे आपकी किसी भी विषय या टॉपिक की तैयारी एक निश्चित समय में पूरी हो जाएगी।

10 बुरी लतों से दूर रहें

विद्यार्थी जीवन में अनुशासीत रहना बहुत जरूरी है। हमें बुरे और अच्छे कामों की परख होती है। हम एक सामाजिक प्राणी है। हमारे समाज में अच्छे तथा बुरे दोनों प्रकार के लोग रहते है। इसलिए हर एक विद्यार्थी को भी सही-ग़लत की पहचान होनी ज़रूरी है। आपको बुरे लोगों और बुरे कामों से दूर रहना चाहिए। आप पढ़ाई में कितने भी brilliant रहे लेकिन बुरी आदतें आपको हीरो से ज़ीरो बना देंगी।


11 आलस्य से दूर रहें

आलस शब्द से विद्यार्थियों को कोसों दूर रहना चाहिए। जब भी आपको आलस आता हैं तो आप कबीरदास जी का यह दोहा अपने दिमाग़ में दोहराये- 

काल करे सो आज कर, आज करे सो अब।

पल में परलय होएगी, बहुरि करेगा कब॥

इसलिए जो काम आपने आज के दिन करने के लिए सोचा है, उसे उसी दिन ख़त्म कर लें। अगर आप सोचेंगे इसको अगले दिन करने को, तो ऐसे-ऐसे वो काम खत्म नही हों पायेगा।


12 इंटरनेट पर समय व्यर्थ ना करें

आजकल डिजिटल जमाने में इंटरनेट एक ऐसा माध्यम है, जिसमें घंटों समय बर्बाद हो जाता हैं पता भी नही चलता। मेरे कहने का अर्थ यह है कि आप सिर्फ आवश्यतानुसार ही इंटरनेट पर सर्फिंग करें। इंटरनेट पर घंटों बैठे रहना, विद्यार्थी जीवन के लिए सही नही है। यदि आप ऑनलाइन स्टडी करते है तो स्टडी करते समय, आवश्यक एप्पलीकेशन को बंद कर ले। इससे आपका ध्यान भंग भी नही होगा।

 

13 सोशल मीडिया और मोबाइल का कम से कम इस्तेमाल करें

मोबाइल फ़ोन का इस्तेमाल कम से कम करने का मतलब यह है कि घंटो बैठकर फिल्में देखना, वेब सिरीज़ देखना, लाइव TV देखना इत्यादि टाइम-वेस्ट करने के जैसा है। आज कल के सोशल मीडिया एप्पलीकेशन फ़ेसबुक, व्हाट्सअप, स्नैपचैट, इंस्टीट्यूट इत्यादि से जितना दूर रह सकते है उतना ही दूर रहना चाहिए। यदि आप सोशल मीडिया एप्पलीकेशन इस्तेमाल करते है तो स्टडी के समय इंटरनेट बंद रखे। स्टडी के समय मोबाइल पर मैसेज आने से आपका ध्यान भंग होता है। इसलिए सोशल मीडिया एप्पलीकेशन और मोबाइल फोन से विद्यार्थियों को दूर ही रहना चाहिए। यदि आप ऑनलाइन स्टडी और यूट्यूब वीडियो से पढ़ाई करते है तो आप उसी दौरान इस्तेमाल करें। 

यह भी पढ़ें:-

14 समय बहुत कीमती है इसे बर्बाद ना करें

इस पॉइंट को हमने कई बार बताया है कि समय की कीमत की तुलना नहीं की जा सकती है। इसलिए विद्यार्थियों को अपना समय व्यर्थ नही करना है। यदि आप पढ़ते-पढ़ते थक गए है तो आप भले ही सो जाइये, लेकिन व्यर्थ ना करें। यदि आप आराम कर लेंगे तो आगे की पढ़ाई करने के लिए फिर से तैयार रहेंगे।


15 यात्रा के समय का उपयोग करें

यदि आपका स्कूल या कॉलेज आपके घर/हॉस्टल से दूर है और आप पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल करते है तो इस समय को भी आप पढ़ाई में इस्तेमाल कर सकते हैं। यात्रा के दौरान आप रिवीजन कर सकते है। इससे आपका टॉपिक याद भी हो जाएगा। 


16 टेलीविजन से दूर ही रहें

टेलीविजन यानी कि टी.वी. से दूर ही रहना विद्यार्थियों के किए सबसे अच्छा है। आजकल टेलीविजन पर रोजाना कोई न कोई नया सीरियल/धारावाहिक आते रहते है। हमारा मन बहुत ही चंचल होता है। इसे कंट्रोल में रखना विद्यार्थियों के लिए बहुत जरूरी है। यदि आप टी.वी. देखने के शौकीन है, तो आप अपनी दिनचर्या के अनुसार थोड़ा बहुत टी.वी. देख सकते है।

 

17 नींद पूरी लीजिए

इस पॉइंट को लेकर बहुत से स्टूडेंट्स कंफ्यूज रहते है। स्वस्थ जीवन और स्वस्थ मस्तिष्क के लिए बैलेंस नींद लेना अति आवश्यक है। यदि आप रात-रात भर जागकर स्टडी करते है तो यह आपके लिए सही नही है। अपने टाइम टेबल में कम से कम 6 घंटे की नींद जरूर रखे। और आप हमेशा रात में नींद पूरी करें।


18 Quantity नही Quality Study कीजिए

स्टडी तो सभी करते है, लेकिन स्टडी के दौरान अपने कितना सीखा? यह ज़्यादा महत्वपूर्ण है। इसलिए आपको क्वालिटी स्टडी करनी है ना कि क्वांटिटी स्टडी। आप भले ही एक घंटे में सिर्फ एक पैराग्राफ पढ़े लेकिन उस पैराग्राफ को अच्छे से पढ़े।

19 सेहत का ध्यान रखें

अंतिम पर कम नहीं, आपका सेहत। इस पॉइंट को विद्यार्थियों को सबसे ज्यादा ध्यान देना है। आपका सेहत सबसे महत्वपूर्ण है। आपको स्वस्थ रहना बहुत जरूरी है। सेहत का ध्यान रखने के लिए समय पर पौष्टिक आहार लें, पूरी नींद लें, रोजाना 1 घंटे व्यायाम करें इत्यादि।


काक चेष्टा, बको ध्यानं, स्वान निद्रा तथैव च।

अल्पहारी, गृहत्यागी, विद्यार्थी पंच लक्षणं॥


बचपन मे आपने संस्कृत का यह श्लोक अवश्य पढ़ा होगा। यह श्लोक विद्यार्थी जीवन को अच्छे से परिभाषित करता है। आप इस लेख में दिए गए सभी पॉइंट्स को फॉलो करें, अवश्य ही आप एक दिन टॉपर स्टूडेंट बन जाएंगे और अपने लक्ष्य को प्राप्त करेंगे। यदि आप मेरा यह आर्टिकल पढ़ रहे है तो नीचे कमेंट बॉक्स में अपने नाम के साथ अपनी शौक (hobbies) जरूर बताएं। मैं उम्मीद करूँगी की आप इस लेख को पढ़ने के बाद इसे जरूर फॉलो करेंगे। हम आपके उज्ज्वल भविष्य की कामना करते है।


उम्मीद है 'How to become a Brilliant Student' लेख आपको पसंद आया होगा। इस आर्टिकल में ब्रिलिएंट स्टूडेंट कैसे बनें, Brilliant Student Kaise Bane, क्लास टॉपर कैसे बनें, विद्यार्थी जीवन के महत्वपूर्ण टिप्स, Tips to become brilliant student, टैलेंटेड स्टूडेंट कैसे बनें, प्रतिभाशाली स्टूडेंट कैसे बनें इत्यादि की जानकारी दी गयी है।

यह भी पढ़ें:-

Post a comment

0 Comments